Independence Day Kyu Manate hai | स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते हैं?

आज के इस लेख में हम ये जानेंगे की Independence Day Kyu Manate hai, स्वतंत्रता दिवस का ऐतिहासिक महत्व क्या है. भारत में हर साल 15 अगस्त को एक त्योहार की तरह क्यू मानते है और भी बहुत कुछ, इस लेख के अंत तक बने रहे और स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते है की सारी जानकारी पाए.

भारतवर्ष में हर साल स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है और मनाये भी क्यू ना ये दिन ही ऐसा है इस दिन हमारे देश भारत को अंग्रेजो की चंगुल से आजादी मिली थी. 15 अगस्त 1947 को भारत में पहला स्वतंत्रता दिवस मनाया गया और आज तक मनाया जाता है.

स्वतंत्रता दिवस क्या है [What is Independence day in Hindi]

Swatantrata Diwas एक राष्ट्रीय छुट्टी है इस दिन पुरे देश के सरकारी कामो में एक दिन का अवकाश मिलता है, इस दिन को आज़ादी का दिन भी कहते है क्युकि इस दिन हमें ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी.

हर 15 अगस्त को एक त्यौहार की तरह मनाया जाता है और हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी दिल्ली के लाल किले से पुरे देश को संबोधित करते है और हमारे राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को फहराते है.

इस दिन को सांस्कृतिक आयोजन के साथ साथ फौजी परेड और झंडा फहराने का कार्यक्रम किया जाता है. हर भारतीय इस दिन को एक जश्न के रूप में मनाते है.

आइये जानते है की 15 अगस्त क्यों मनाते है और Independence Day Kyu Manate hai.

स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है [Independence Day Kyu Manate hai]

भारतवर्ष में हर आनेवाले 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस एक राष्ट्रीय त्यौहार की तरह मनाया जाता है. भारतीयों के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है. इस दिन सभी सरकारी कार्यालय जैसे की डाकघर, बैंक, संगठन इत्यादि बंद रहते है लेकिन सार्वजनिक परिवहन चलता रहता है.

ब्रिटिश शासन से चल रही बहुत ही लम्बी हिंसक और अहिंसक लड़ाई के बाद हमें ये आजादी मिली है, इसके लिए हज़ारो स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने परिवार की चिंता ना करते हुए अपनी जान की बाजी लगा दी.

इतिहासकारो का ये मानना भारत के अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने लॉर्ड माइंटबेटेन पर भारत की आज़ादी के लिए दबाव डाला. 4 July,1947 को ब्रिटिश हाउस ऑफ़ कॉमन्स में इंडियन इंडिपेंडेंट बिल लाया गया. इस बिल में भारत को विभाजित कर एक नया देश पाकिस्तान बनाने का प्रस्ताव था. 18 जुलाई, 1947 को इस बिल को ब्रिटिश संसद में पास किया गया और 15 अगस्त,1947 की आधी रात को हमारे भारत देश की आज़ादी की घोषणा की गयी.

जब हमारे देश को आज़ादी मिली तो पंडित जवाहरलाल नेहरू ने स्वतंत्र देश घोषित किया और भाग्य के साथ प्रयास भाषण दिया.

हर साल हमारे आदरणीय राष्ट्रपति स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पहले शाम के समय में पुरे राष्ट्र को सम्भोधित करते हुए एक भाषण देते है.

स्वतंत्रता दिवस देश की राजधानी दिल्ली में बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है, प्रधानमंत्री जी लाल किले पर तिरंगे झंडे को फहराते है और उसके बाद राष्ट्रीय गीत जाया जाता है.

हमारे तिरंगे झंडे, स्वतंत्रता दिवस और वीर शहीदों को सम्मानित और सलाम देने के लिए 20 बन्दुक आसमान की तरफ चलायी जाती है. ये उस सभी वीरो के सम्मान के लिए मनाया जाता है जिन्होंने इस देश की आज़ादी के लिए अपने जान न्योछावर कर दिए.

Conclusion

हमारे देश को अंग्रेजो के चंगुल से छुड़ाना इतना आसान काम नहीं था,आजादी लिए कई लोगो ने अपनी जान तक न्योछावर कर दी. जब भारत का बटवारा हुआ तो कई लोग बेघर हो गए, कई लोग दंगो में मारे गए. हमें आजादी तो मिली लेकिन उसके लिए बहुत बड़ी कीमत भी चुकानी पड़ी. मेरी तरफ से उन सभी लोगो को सलाम जिनकी वजह से हमारा ये भारत देश आज़ाद हुआ.

अब तो आप समझ ही गए होंगे की Independence Day Kyu Manate hai,स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते है. यदि आपको हमारा ये लेख अच्छा लगा तो इसे जरूर शेयर करे.

Follow Me on
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments