Web Hosting क्या है और इसे कहाँ से ख़रीदे ? Web Hosting In Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज मैं आपको Web Hosting in Hindi के बारे में बताऊंगा.अभी के समय में एक अच्छा website बनाना और उस website को maintain करना अपने आप में ही एक बहुत बड़ा बात है. इसके लिए आपको website से सम्बंधित सारी technical जानकारी होनी चाहिए. एक अच्छे वेबसाइट को बनाने और चलाने के लिए बहुत सारी बातो का ध्यान रखना जरुरी होता है जैसे की आपके website का Domain Name और Web Hosting in hindi जिससे की हमारे वेबसाइट को एक पहचान मिलता है.

हमारे जो नए Bloggers है जिन्होंने Blogging की दुनियाँ में अभी कदम ही रखा है जिन्हें वेब होस्टिंग के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है वे गलत Hosting खरीद लेते है जिनकी वजह से उन्हें आगे चलकर बहुत सी दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है. आज के इस Article में मैं आपको Web Hosting in Hindi के बारे में पूरा जानकारी दूंगा इसलिए इस Article के अंत तक बने रहे.

वेब होस्टिंग क्या है – What is web hosting in Hindi

सारे की सारे वेबसाइट को इंटरनेट में जगह देने का काम Web Hosting करता है. वेब होस्टिंग के ज़रिये किसी भी Website को पूरी दुनियाँ में Internet की मदद से Access किया जा सकते है.

इंटरनेट में जगह देने से मेरा मतलब है की आपके वेबसाइट के सारे Data Files जैसे की Audio, Video, Text इत्यादि को एक Special Computer जिसे हम Web Server कहते है पर Store कर के रखा जाता है जिसे लोग Internet के माध्यम से access कर पाते है.

Internet की बात कहा जाये तो इसे Interconnection Of Networks कहते है मतलब इसके अंदर सारे Digital Devices इंटरनेट की मदद से आपस में Connected होते है जैसे की Mobile, Computer, Tablets इत्यादि.

Web Servers या इन Special Computers की बात की जाए तो ये हमेशा internet से connected होते है. बहुत सारी Companies जैसे की Hostinger, GoDaddy, Hostgator, इत्यादि Web Hosting की सेवाएँ प्रदान करती है जिन्हे हमलोग Web Host भी कहते है. आसान भाषा में कहा जाये तो हमलोग अपने Website और उसके Data को इन Web Servers पर Store कर रखते है उनके बदले हम उन्हें पैसे देते है.

वेब होस्टिंग काम कैसे करता है ?

हम लोगों का वेबसाइट बनाने का एक ही उद्देश्य होता है की हम अपने ज्ञान और जानकारी को लोगो के साथ बांटे जैसे की Photos, Videos, Articles इत्यादि. इसके लिए हमें अपने Files को Web Hosting पर Upload करना होता है.

ऐसा करने के बाद जब भी कोई User आपके Website के Domain Name को अपने Web Browser जैसे की Google Chrome, Firefox, Opera, Safari पर टाइप करता है तो आपका Domain Name इंटरनेट की मदद से आपके Web Hosting से जोड़ देता है जहाँ पर अपने अपना Website के फाइल्स को अपलोड करके रखा हुआ है.

वेब होस्टिंग से जुड़ने के बाद Website का सारा information उस user के पास पहुंच जाता है. Domain Name को वेब होस्टिंग से जोड़ने के लिए Domain Name System (DNS) का प्रयोग किया जाता है जिससे की Domain को ये पता चले की आपके Website को कौन से Web Hosting में रखा गया है.

वेब होस्टिंग कौन से कंपनी से ख़रीदे ?

अभी के समय में बहुत से Companies है जो सस्ते दामों में Web Hosting provide करती है लेकिन आपको ये Decide करना है की आपकी जरुरत के हिसाब से कौन सी Company ठीक है. कुछ जानकारी होनी चाहिए एक Web Hosting खरीदने से पहले जैसे की :-

Band Width

आपकी Website से 1 सेकंड में कितना Data को Access कर सकते है Bandwidth कहलाता है. जब भी कोई User आपके Website को Access कर रहा होता है तो आपका Web Hosting यूजर का कुछ Data use करके Website का Information, user के साथ शेयर करता है. मान लीजिये आपका Web Hosting का Bandwidth कम है और ज्यादा यूजर एक साथ में आपके website को access करते है तो आपका Website Down हो जायेगा.

Disk Space

Web Hosting के Storage Capacity को Disk Space कहते है. जैसे हमारे Computer में 512 GB या 1 TB का Storage Capacity होता है उसी तरह से Web Hosting का भी Storage Capacity होता है. कोशिश करे की Unlimited Storage Capacity वाला Hosting ख़रीदे.

Uptime and Downtime

जितने समय के लिए आपका Website Online या Live रहता उसे Uptime कहते है. कभी किसी दिक्कतों के कारण आपका Website Down हो जाता है या website खुल नहीं पाता तो उसे हम Downtime कहते है.

Customer Service

Customer Service किसी भी Web Host के लिए बहुत जरुरी होता है, जब कभी आपके वेबसाइट से सम्बंधित कोई Technical Fault आता है तो वे जल्द से जल्द ठीक कर देते है.

Web Server Country

पूरी दुनिआ में बहुत सारी Web Host Companies है जो अच्छी से अच्छी Web Hosting Service Provide कराती है लेकिन ये आपके ऊपर निर्भर करता है की आप कहाँ से web hosting ख़रीदे. यदि आपके यूजर India से आते है तो आपको Web Hosting भी India से ही खरीदना अच्छा रहेगा. आपका web hosting का server आपके Country से जितना दूर रहेगा आपके वेबसाइट को access करने में उतना ज़्यादा टाइम लगेगा.

वेब होस्टिंग के प्रकार – Types Of Web Hosting In Hindi

अब तक अपने ये जाना की Web Hosting in Hindi क्या है और कैसे काम करता है. अब आप जानेंगे की ये कितने प्रकार के होते है. वैसे तो बहुत तरह की वेब होस्टिंग होता है लेकिन हम सिर्फ उन्ही के बारे में जानेंगे जिन्हे सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है. मुख्य रूप से केवल 3 प्रकार के वेब होस्टिंग होते है –

  1. Shared Hosting
  2. Dedicated Hosting
  3. Virtual Private Server (VPS)
  4. Cloud Hosting

Shared Web Hosting

Shared Web Hosting में बहुत सारे Websites के files को एक साथ एक ही server में रखा जाता है इसलिए इस वेब होस्टिंग का नाम Shared Web Hosting रखा गया है .

Shared Web Hosting उन लोगो के लिए अच्छा है जिन लोगो ने अपना नया वेबसाइट बनाया है, चूँकि ये वेब होस्टिंग सस्ती होता है और नए वेबसाइट में Visitor भी कम ही होते है तो आपको बहुत कम प्रॉब्लम होगा. जब आपके Visitors बढ़ने लगेंगे तब आप अपना Web Hosting को Change या Upgrade भी कर सकते है.

जैसे की ये Shared Web Hosting में बहुत सारे websites के files रखे हुए होते है , यदि कोई दूसरा website Busy हो जाये या उस वेबसाइट पे ज्यादा traffic आ रहा हो तो उस कारण और बाकि सारे वेबसाइट slow पड़ जायेंगे और पेज को खुलने में समय लगेगा.

Dedicated Hosting

Dedicated hosting ठीक Shared web hosting के opposite होता है। Dedicated hosting के सर्वर्स केवल एक ही वेबसाइट के फाइल्स को स्टोर कर के रखते है और ये Servers सबसे तेज होते है, इसमें Sharing जैसे कुछ नहीं होता है और ये Hosting सबसे महंगे भी आते है.

जिनके वेबसाइट पर जायदा संख्या में traffic आते है ये होस्टिंग उनके लिए बहुत सही है. बहुत सारी eCommerce sites जैसे की Amazon, Flipkart, Myntra इत्यादि Dedicated hosting ही use करते है।

Virtual Private server (VPS)

Visualization Technology का इस्तेमाल किया जाता है VPS Hosting में जिसमे की एक Strong और Secure Server को Virtually अलग हिस्सों में divide कर दिया जाता है. चूँकि ये होस्टिंग थोड़ा महंगे और और ज्यादा traffic वाले वेबसाइट use करते है. यदि आपको एक performance और dedicated web server चाहिए वो भी कम पैसो में तो आपके लिए VPS सबसे बेस्ट रहेगा।

Cloud Web Hosting

Cloud Web Hosting एक ऐसे वेब होस्टिंग है जो दूसरे Clustered Servers के Resources को use करता है। इस वेब होस्टिंग में Traffic को Balance किया जाता है Security को ध्यान में रखते हुए. चूँकि सारे Files Cloud में save रहते है तो server down होने के chance ना के बराबर होते है और high traffic को handle करना भी आसान होता है.

आज का ज्ञान

मुझे उम्मीद है आपको मेरा ये आर्टिकल Web Hosting In Hindi पसंद आया होगा. मेरा हमेशा यही कोशिश रहता है आपको वेब होस्टिंग इन हिंदी के बारे में पूरा जानकारी दू जिससे की आपको किसी दूसरे साइट पर जाकर इस आर्टिकल के बारे में खोजने की जरुरत ना पड़े.

यदि आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई doubts है या आप चाहते है की इस article में कुछ सुधर होना चाहिए तब आप Comment box में comment लिख सकते है.

यदि आपको इस Article Web Hosting In Hindi से कुछ सिखने को मिला तो आप इस Article को Social Network Site जैसे की Facebook, Twitter इत्यादि पर शेयर करे.

Follow Me on